यह किताब जो सचमुच हमारी अंदरूनी दुनियां के बाहर की है. इसे डाउनलोड करे एवं स्वंय जागृति हेतु इसे पढ़े!

रैलियन आंदोलन

रैल: रेसिंग कार के चालक

Rael Racingरैल की अन्य प्रतिभा और जुनून में से एक कार रेसिंग भी है, जो उनका ९ साल की उम्र से ही स्वप्न रहा था. क्रमबद्ध तरीके से सभी नई कारों का उपयोग करने हेतु, वह एक स्पोर्ट्स-कार के पत्रकार बन गए. उन्होंने अपने खुद की ऑटो पॉप नामक कार रेसिंग मैगज़ीन की स्थापना कर दी, जो फ्रांस में प्रथम क्रमांक की फ्रेंच रेसिंग कार पत्रिका बन गयी और इसी के साथ उन्हें कारों की दौड़ में हिस्सा लेने के लिए अनुमति एवं सुनहरा अवसर प्राप्त हुआ. उन्होंने मैग्नी कोंर्स, फ्रांस के प्रसिद्ध विनफील्ड रेस विद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन की उपाधि हासिल कर दी, जिस जगह के फल स्वरूप एलैन प्रोस्ट जैसे चैंपियंस का निर्मान हुआ था. सभी को आश्चर्य तब हुआ, जब उन्होंने अपनी पहली रेस की सहाय्यता से फ्रांस में एलबी ट्रैक पर बहुत अनुभवी और प्रसिद्ध ड्राइवरों के बीच में ध्रुव स्थान प्राप्त कियाँ. बहुत जल्द वह उनकें पैक में प्रथम लैप की प्रतिभा के लिए जानें जाने लगे. जहां पर कभी कभी पहलें ही लैप में ज्यादा से ज्यादा ७ कारों को एकत्रित रुप से ओवर-टेकिंग करना पड़ता है!

दिसंबर १३, १९७३ के उस दिन ने उनके जीवन को नाटकीय रूप से बदल दिया, जब उनकी मुलाकात हमारे वैज्ञानिक-निर्माणकर्ताओं में से, एक के साथ हो गई: जिनके द्वारा हमें निर्मित कियाँ गया था. एवं तब उन्हें मजबूरन उस कार रेसिंग के जुनून का परित्याग करना पड़ा था. हालांकि, १९९४ में, अपने प्रसिद्ध मुलाक़ात के कुछ २० साल बाद, कई रैलियंस के अनुरोध पर, जो उन्हें फिर से कार रेसिंग करते हुए देखना चाहते थे, रैलने एक बार फिर से एक पेशेवर स्पोर्ट्स कार रेसर की भागदौड़ अपने हाथ में थाम ली एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध प्रतियोगिताओं में भी भाग लेने का स्वीकार कर लिया. दुनिया में उडनतश्तरी की घटना के पहले व्याख्या केंद्र, युएफओलैंड (UFOland), के प्रायोजन से रैल हमारे रचनाकारों द्वारा उन्हें दिए गए संदेशों को बढ़ावा देते हुए अभी भी अपने रेसिंग के जुनून का पालन करते है.

ले मैंस विजेता जीन क्लौड़े अँन्ड्रुएट (Jean Claude Andruet), डेपैल्लेर (Depailler) आदि सह-पायलटों के साथ उन्होंने रेसिंग में भाग लिया... और दुनिया भर की सबसे प्रतिष्ठित ट्रैक्स पर रेसिंग द्वारा, जैसे मॉन्ज़ा इटली, स्पा बेल्जियम, डेटोना संयुक्त राज्य अमेरिका, मॉन्ट्रियल कनाडा, सुज़ूका जापान और कई दुसरी तरह के ट्रैक्स, रैल की प्रतिष्ठा एक संभ्रांत पायलट के रूप में अब अच्छी तरह से स्थापित हो गई है. जाहिर है, दुनिया का सबसे तेज आध्यात्मिक गुरु रैल ही है!

आज, रैल पेशेवर रेसिंग से सेवानिवृत्त है, लेकिन अभी भी वह अपने खाली समय में ऑनलाइन रेसिंग सिमुलेशन गेम्स का लुब्ध उठाते है, विशेष रूप से Live for Speed जहां वह अपने एक छद्म नाम rael01 के तहत रेसिंग करते है और वह वहाँ दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक है.